ब्रेकिंग न्यूज़

नानपारा में स्कूल प्राचार्य पर छात्रा के साथ शारीरिक प्रताड़ना का मुकदमा हुआ दर्ज,स्कूल प्रबंधन मामला रफादफा कराने के लिये परिजनों पर बना रहा दबाव,,,,,,,,,,

नानपारा में स्कूल प्राचार्य पर छात्रा के साथ शारीरिक प्रताड़ना का मुकदमा हुआ दर्ज,स्कूल प्रबंधन मामला रफादफा कराने के लिये परिजनों पर बना रहा दबाव,,,,,,,,,,

नानपारा(बहराइच)NNI 24 :- जिले में अवैध रूप से चल रहे स्कूल प्रशासन द्वारा किया जा रहा युवा छात्राओं के साथ शारीरिक उत्पीड़न,क्षेत्रीय पुलिस बनी मौन,पुलिस में मुकदमा दर्ज होने के बाद भी नही हो रही कार्यवाही,स्कूल प्रबन्धन पीड़िता के परिजनों पर मामला रफा दफा कराने का बना रहा दबाव।वर्तमान समय मे योगी सरकार द्वारा प्रदेश में अवैध रूप से बिना मान्यता के चल रहे स्कूलों के खिलाफ कार्यवाही का जहां शख्ती के साथ कार्यवाही करने का आदेश जारी कर कार्यवाही को अमली जामा पहनाने पर जोर दे रहा है वहीं जिले में ऐसे अनगिनत स्कूल भी हैं जो प्राइमरी और जूनियर तक की मान्यता लेकर स्कूलों के मानकों के विरुद्ध हाई स्कूल और इंटर तक की पढ़ाई का प्रलोभन देते हुए स्कूल चला रहे हैं और दूसरे स्कूलों से उनके फार्म भरा कर सरकार को धोखा दे रहे हैं।एक ऐसा ही मामला जिले के नानपारा कस्बे का सामने आया है जिसके पास जूनियर तक की ही मान्यता है और स्कूल इंटर तक चलाया जा रहा है,जहां बीते दिनों स्कूल प्राचार्य द्वारा हाई स्कूल की एक युवा छात्रा के साथ शारीरिक उत्पीड़न कर स्कूल के सैकड़ों बच्चों के सामने शर्मसार करने का मामला भी प्रकाश में आया है।सूत्रों के मुताबिक कस्बे के पुरानी बाजार निवासी साबिर अली ने पुलिस में तहरीर देते हुये अवगत कराया है कि उनकी पुत्री नसरा जो कि क्षेत्र के बेलदारन टोला स्थित पायनियर पब्लिक स्कूल में कक्षा 10 में पढ़ती है,को स्कूल के प्राचार्य अक्सर बिना किसी कारण के उसकी पिटाई किया करते थे जिसका छात्रा ने पहले तो कोई विरोध नही किया और कष्ट भोग लिया करती थी लेकिन बीती 2 तारीख को प्रचार्य ने उक्त छात्रा को स्कूल की करीब 250 छात्र- छात्राओं के बीच पिटाई कर अपमानित किया था जिसकी शिकायत छात्रा के पिता ने स्कूल पहुंच कर प्राचार्य से की लेकिन उन्होंने उनके साथ अभद्रता करते हुये ये कह कर भगा दिया कि मैं तो ऐसे ही इसकी पिटाई करूँगा आप चाहें तो इसका नाम कटवा लें।प्राचार्य की मंशा को भांपते और उचित कार्यवाही कराने के मकसद से पुलिस में तहरीर देकर जांचोपरांत कार्यवाही कराने की मांग की गई थी जिसके सन्दर्भ में पुलिस ने मामला तो दर्ज कर लिया लेकिन अभी तक कोई कार्यवाही नही की है जबकि इसकी भनक लगते ही स्कूल प्रबंधन पीड़िता के परिजनों पर सुलह कराने का भी दबाव बनाने लगे हैं और इसी सिलसिले में वह क्रास एफआईआर भी कराने का प्रयास कर रहे हैं ताकि प्रेशर में आकर परिजन सुलह कर ले।यहां पर ये बताना जरूरी हो जाता है कि ये स्कूल एक निजी मकान में संचालित हो रहा है जिसके पास मान्यता लेने के लिये पर्याप्त स्थान उपलब्ध नही है और न ही उनके पास सुविधाएं ही हैं जो किसी मान्यता के लिये आवश्यक होते हैं दूसरे इस स्कूल को जूनियर तक कि ही मान्यता प्राप्त है और स्कूल में हाई स्कूल व इंटर तक के बच्चों का स्थाई प्रवेश लेकर शिक्षा दी जा रही है जो सर्वथा नियम विरुद्ध है।ऐसे में अब देखना ये है कि इस गम्भीर मामले में शिक्षा विभाग के आला अफसर व पुलिस अधिकारी गण क्या कार्यवाही करते हैं और पीड़िता को कैसे इंसाफ दिलाते हैं।

Advertisement

Related posts

पुलिस स्मृति दिवस का आयोजन एस एस बी मुख्यालय अगय्या पर किया गया*********

Abdul Aziz Editor Nation News India 24

पत्रकार के साथ अभद्रता करने वाले शिक्षक पर कार्रवाई न होने पर पत्रकार संगठनों ने बैठक कर शिक्षक के खिलाफ कार्रवाई करने की उठी मांग

केन्द्र सरकार द्वारा लाये गये नागरिकता संशोधन विधेयक बिल का कानपुर में हुआ जोर दार विरोध, लोगों में प्रदर्शन कर राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन,,,,,,,,,,