ब्रेकिंग न्यूज़

एआईएमआईएम बहराइच ने राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन नगर मजिस्ट्रेट को सौंपा,मौलाना कलीम सिद्दीक़ी को फौरन रिहा किया जाए एवं दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाए,,,,,,

एआईएमआईएम बहराइच ने राज्यपाल को संबोधित ज्ञापन नगर मजिस्ट्रेट को सौंपा,मौलाना कलीम सिद्दीक़ी को फौरन रिहा किया जाए एवं दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की जाए,,,,,,

बहराइच : (NNI 24) आल इंडिया मजलिस ए इत्तेहादुल मुस्लिमीन बहराइच के यूथ जिलाध्यक्ष रियाज़ अहमद एडवोकेट के तत्वावधान में मौलाना कलीम सिद्दीक़ी की रिहाई एवं दोषियों के खिलाफ कड़ी कार्यवाही करने के सम्बन्ध में ज्ञापन नगर मजिस्ट्रेट को सौंपा गया और ज्ञापन में बताया गया कि मौलाना कलीम सिद्दीक़ी S/O मोहम्मद अमीन सिद्दीक़ी निवासी फुलत ज़िला मुज़फ़्फ़रनगर के रहने वाले हैं जो ऐक साफ़ सुथरी छवि के सामाजिक कार्यकर्ता हैं तथा बहुत बड़े विद्धवान हैं,जिनके द्वारा किये जारहे सामाजिक कार्यों से समाज में सांप्रदायिक सौहार्द ऐवम भाईचारा बना हुआ है,तथा मुस्लिम समाज के ग़रीब बच्चों की पढ़ाई के लिये व शिक्षा स्तर को बढ़ाने के लिये मदरसा चलाते हैं,मौलाना ने कभी भी किसी धर्म की व्यक्तिगत तौर या सार्वजनिक तौर पर निंदा बयान नही की है और ना आजतक धार्मिक भावनाओं को ठेस पहुँचाई है,और ना किसी व्यक्ति का आजतक जबरन या गुमराह करके या डरा धमका कर या किसी प्रकार का लालच देकर या अनुचित व्यवहार करके किसी का धर्म परिवर्तन करने का कार्य नही किया है।
मौलाना विश्वविख्यात इस्लामिक स्कॉलर हैं जिनका पूरी दुनिया में अपना स्थान है परंतु दिनांक 21/09/2021 को यूपी ATS लखनऊ द्वारा मौलाना कलीम व उनके ड्राइवर सलीम तथा डॉक्टर आतिफ़ को बिना। किसी क़ानूनी नोटिस व इत्तला के अमानवीय ढंग से उठाया गया था जिसमें मौलाना को झूठे मुक़दमे FIR No : 09-2021 पुलिस स्टेशन ATS लखनऊ में फँसा दिया गया है ।व उनके दोनों साथियों का अब तक कुछ पता नही है।

Advertisement

श्रीमान जी 22/09/2021 को समय क़रीब 5 बजे से 6 बजे के बीच खतौली फुलत के रास्ते से मौलाना के मदरसे में पढ़ाने वाले हाफ़िज़ इदरीस ग़ायब हैं जिनको भी लखनऊ ATS ने उठा रखा है 24 घंटों से अधिक समय बीत जाने के बाद भी ना तो इन्हें किसी कोर्ट में पेश किया गया है और ना ही उनकी गिरफ़्तारी की सूचना उनके परिजनों को नही दी गई है जिन्हें नाजायज़ हिरासत में रखा हुआ है आपसे प्रार्थना है कि उन्हें छोड़ा जाये।
हाफ़िज़ इदरीस साफ़ सुथरी छवि के व्यक्ति हैं जो हिंदू मुस्लिम भाईचारे के प्रतीक हैं तथा पुलिस व प्रशासन के मित्र माने जाते रहे हैं,हाफ़िज़ इदरीस हिंदुओ को अपना भाई मानते हैं कावड यात्रा के दौरान कांवड़ियों की भी सेवा करते देखे जाते हैं।

मान्यवर यह पूरा मामला झूठा व बेबुनियाद है व नाजायज़ है जिसकी निष्पक्ष जाँच किया जाना व इन लोगों को रिहा किया जाना ज़रूरी है।
मौलाना कलीम व उनके साथी सच्चे देशभक्त हैं उनकी देशभक्ति पर किसी भी प्रकार का प्रश्नचिन्ह नही लगाया जसकता।

Advertisement

अतः हम अभी समाज के आम लोग व आल इण्डिया मजलिस ऐ इत्तिहादुल मुसलिमीन के समस्त कार्यकर्ता इस ज्ञापन के माध्यम से आपसे प्रार्थना करते हैं कि इस मामले निष्पक्ष जाँच की जाये व मौलाना व उनके तमाम साथियों को तुरंत रिहा किया जाये व उनकी छवि को बिगाड़ने ना दिया जाये।इस अवसर पर शेख़ रियाजुददीन एडवोकेट यूथ अध्यक्ष, उत्तर प्रदेश संयुक्त सचिव व देवी पाटन मंडल प्रभारीअल्ताफ अहमद मेकरानी, देवीपाटन मंडल अध्यक्ष मकीन अहमद मेकरानी, मौलाना सिराज मदनी प्रभारी 286 विधानसभा सदर बहराइच, जिला सोशल मीडिया प्रभारी कामरान पठान, पूर्व नगरपालिका अध्यक्ष प्रत्याशी अकरम सईद,शादान खान, तुफैल ओवैसी आदि लोग उपस्थित रहे।

Advertisement

Related posts

किसान एवं श्रमिक विरोधी विधेयक को वापस लेने के लिए डीएम को दिया ज्ञापन

बहराइच पहुंचने पर दरगाह शरीफ के अध्यक्ष शमसाद अहमद का हुआ भव्य स्वागत,,,,,,,,

मासिक बैठक में विधानसभा चुनाव को जीतने का बनाया लक्ष्य, जिम्मेदार सदस्यों को दिए गए पद

एक टिप्पणी छोड़ दो