ब्रेकिंग न्यूज़

वसीम रिजवी की गिरफ्तारी को लेकर बहराइच में लोगों ने किया विरोध प्रदर्शन कर सौंपा ज्ञापन,वसीम रिजवी को फाँसी दिये जाने की उठी मांग,,,,,,,

*वसीम रिजवी की गिरफ्तारी को लेकर बहराइच में लोगों ने किया विरोध प्रदर्शन कर सौंपा ज्ञापन,वसीम रिजवी को फाँसी दिये जाने की उठी मांग,,,,,,,

अब्दुल अज़ीज़

Advertisement

बहराइच : (NNI 24) इस्लाम धर्म के संस्थापक और पैगम्बर ए इस्लाम रसूल ए खुदा हज़रत मोहम्मद मुस्तफा सलल्लाहो व अलैहवसल्लम की शान में गुस्ताखी करने और आसमानी किताब कुरआन करीम में तरमीम कर इस्लाम के खिलाफ प्रचार करने वाले शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व चेयरमैन वसीम रिज़वी की इस गुस्ताखाना हरकतों से मुस्लिम समाज मे घोर नाराजगी और गुस्सा देखने को मिल रहा है,इसी क्रम में आज बाद नमाज जुमा जिले भर में इस्लाम के शैदाइयों द्वारा वसीम रिज़वी के खिलाफ विरोध प्रदर्शन किया गया और प्रशासन को ज्ञापन सौंपते हुए कठोरतम कार्यवाही किये जाने की मांग की गई है।आपको बता दे कि इस सिलसिले में आज छोटी तकिया मस्जिद के बाहर जुमे की नमाज के बाद भारी तादाद में लोग इकट्ठा होकर विरोध प्रदर्शन करते हुए वसीम रिज़वी को फाँसी देने की मांग करते हुए राष्ट्रपति को सम्बोधित ज्ञापन जिला प्रशासन को सौंपा वहीं जरवल नगर पंचायत क्षेत्र के अहमद शाह नगर मैं मुस्लिम समुदाय के लोगों ने शिया वक्फ बोर्ड के पूर्व अध्यक्ष वसीम रिजवी द्वारा पैगंबर मोहम्मदﷺके की शान में आपत्तिजनक टिप्पणी से गुस्साए लोगों ने वसीम रिजवी के खिलाफ जमकर मुर्दाबाद के नारे लगाए।अजीमुद्दीन के नेतृत्व में लोगों ने मुख्यमंत्री को संबोधित नायब तहसीलदार को ज्ञापन सौंपा।तकिया मस्जिद इमाम मौलाना शाहआलम ने कहा की मरदूद वसीम रिजवी जो निहायत बदतमीज बत्तहजीब किस्म का आदमी है, हम हर कुछ बर्दाश्त कर सकते हैं लेकिन गुस्ताख ए रसूल को बर्दाश्त हरगिज़ नहीं किया जाएगा। आज उसने जो अल्फाज अदा किए हैं वह घोर निंदनीय हैं जिसकी हम निंदा करते हैं और सरकार से मांग करते हैं कि इस मरदूद को सख्त से सख्त सजा दी जाए।समाजसेवी अजीमुद्दीन ने कहा इससे पहले भी यह कुरान की आयतों को लेकर टिप्पणी की थी आज
भारत जिसे सबसे बड़े धर्म निरपेक्ष राष्ट्र और गंगा जमुना तहज़ीब के लिए दुनिया जानती है उसकी आबोहवा खराब करने के लिये वसीम रिजवी जैसे इस्लाम के दुश्मन नफरत फैलाना शुरू कर दिये है।कहा है कि नबी ﷺ के सदके हमारी गर्दनें हमारी जान कुर्बान हैं मगर अब बर्दाश्त की हद पार हो गई है। हम सरकार से उन नफरत के बीज बोने वालों की गिरफ्तारी और फांसी की मांग करते हैं।प्रदेश सरकार ने इनको शिया वक्फ बोर्ड अध्यक्ष नहीं बनाया गया जिसको लेकर बौखलाए वसीम रिजवी ने कुछ लोगों से मिलकर ही चुनाव से पहले प्रदेश में दंगा कराने की नियत से पैगंबर हजरत मोहम्मद सा0 पर आपत्तिजनक टिप्पणी वाली पुस्तक भी प्रकाशित की जिस के कवर पेज पर चित्रकारी अशोभनीय ढंग से प्रकाशित किया गया है।पुस्तक में मनगढ़ंत और तथ्यहीन बातें करके लोगों में क्रोधित कर और कई जगहों पर दंगे भड़काने की भरपूर साजिश रची है,ऐसी अशोभनीय भाषा का प्रयोग आज तक भारत में किसी भी धर्म आस्था समुदाय के लिए पूर्व में नहीं किया गया। जिसको लेकर लोगों में रोष व्याप्त है।इस मौके पर सभासद शरीफ अहमद,समाजसेवी कमाल अहमद,सभासद फैजान अहमद,मुफीद अहमद(छोटू)मो0 शरीफ,डॉ जीशान अहमद,फरमान अहमद,शादाब पहलवान ,मुफीद अहमद,लाइक अहमद, मोहम्मद इलियास, एवं हजारों की संख्या में लोग मौजूद रहे।जिसको लेकर जरवल पुलिस प्रशासन ने अपनी जिम्मेदारी बखूबी निभाते हुए थाना जरवल रोड पुलिस बल एवं पीएससी के जवान मौजूद रहे।

Advertisement

Related posts

छह महीने के इंतजार के बाद खुला ताजमहल,सूर्योदय के समय दीदार करने पहुंचे सैलानी******

वृक्षारोपण एवं दान करके जन्मदिन मनाया* 

पत्रकार उत्पीडन को लेकर डीएम को सौंपा ज्ञापन,,,,,,,

एक टिप्पणी छोड़ दो