अंतरराष्ट्रीय अन्य अपराध अहमदाबाद गुजरात जीवन शैली टैकनोलजी टॉप न्यूज़ फ़ैशन फोटो-गैलरी बिजनेस बॉलीवुड ब्रेकिंग न्यूज़ मनोरंजन महाराष्ट्र मुंबई रमतो राजनीति राष्ट्रीय स्वास्थ्य हॉलीवुड

बैठक में RBI गवर्नर ने पूछा- ब्याज दर में कटौती क्यों नहीं, बैंकों ने दिया ये जवाब

रिजर्व बैंक के गवर्नर शक्तिकांत दास ने गुरुवार को बैंक अधिकारियों के साथ मुलाकात की और नीतिगत ब्याज दर में कटौती के बाद बैंकों के कर्जों पर में कमी में देरी के कारणों पर चर्चा की. सूत्रों के मुताबिक पंजाब नेशनल बैंक, बैंक ऑफ बड़ौदा, बैंक ऑफ इंडिया, आईसीआईसीआई बैंक, कोटक महिंद्रा बैंक और आईडीएफसी फर्स्ट बैंक के अधिकारियों ने बैठक में हिस्सा लिया.

बैठक में हिस्सा लेने वाले एक अधिकारी ने कहा, ‘गवर्नर ने हमसे कहा कि केंद्रीय बैंक की ओर से नीतिगत दरों में कटौती के बाद बैंकों ब्याज दर को कम किए जाने की जरूरत है ताकि ग्राहकों को इसका फायदा मिल सके.’ बैठक में शिरकत करने वाले एक अन्य अधिकारियों ने अधिक विवरण दिए बगैर कहा कि बैठक के दौरान मौद्रिक नीति को प्रभावी तरीके से लागू किये जाने पर चर्चा हुई.

Advertisement

गौरतलब है कि आरबीआई के नीतिगत दरों में कटौती के बावजूद बैंक उस लाभ को आम लोगों तक पहुंचाने में पीछे रहे हैं, वे इसके लिए बड़े पैमाने पर गैर-निष्पादित परिसंपत्तियों के लंबित होने और अन्य कारकों का हवाला देते रहे हैं.

Advertisement

Related posts

बहराइच। सेठ एम0 आर0 जयपुरिया स्कूल में अध्ययनरत छात्र-छात्राओं के लिए पाँच दिवसीय निःशुल्क दंत परीक्षण शिविर का आयोजन लॉयन्स क्लब बहराइच सिटी के तत्वावधान में आयोजित हुआ। शिविर में बहराइच जिले के प्रसिद्ध दंत विशेषज्ञ डॉ0 सचिन अग्रवाल एवं उनकी पूरी टीम ने लगभग 450 विद्यार्थियों का दंत परीक्षण कर दवायें व दाँतो की सुरक्षा के उपायों पर जानकारी दी । डॉ0 सचिन अग्रवाल ने स्मार्ट क्लास के माध्यम से बड़े ही रोचक ढंग से दांतों में होने वाले विभिन्न रोगों की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि यदि हमारे दांतों में सड़न है तो उसका असर हमारे हृदय पर होता है तथा यदि गर्भवती महिला के दांतों में सड़न या तकलीफ हो तो होने वाले बच्चे पर भी इसका असर पड़ सकता है। डॉ0 अग्रवाल ने बताया कि दांतों से सम्बन्धित पायरिया नामक रोग हो सकता है। दांतों से खून आना, मसूड़ों में सूजन एवं दुर्गंध आदि लक्षण दिखाई देते हैं। साथ ही फ्लोरीन का हमारे दांतों पर गहरा प्रभाव पड़ता है। कोल्ड ड्रिंक और फास्ट फूड भी हमारे दांतों के लिए बेहद हानिकारक है। ब्रश करने के तरीकों की जानकारी देते हुए उन्होंने बताया कि हमें हल्के हाथों से ब्रश करना चाहिए। दांतों पर अत्यधिक दबाव नहीं डालना चाहिए। हर तीन महीने में हमें अपना ब्रश बदल देना चाहिए। 45 डिग्री का कोण बनाते हुए दांतों को अंदर एवं बाहर दोनों ओर से कम से कम तीन मिनट तक ब्रश से साफ करना चाहिए। सेठ जयपुरिया विद्यालय के प्राचार्य ने कहा कि यदि हमें सुंदर और चमकीले दांत चाहिए तो हमें निरंतर इनकी देखभाल करना होगा। हमारे दांतों की सफाई के अलावा जीभ की भी सफाई जरूरी है, जिससे मुंह से दुर्गंध नहीं आती है। उंगली या ब्रश से धीरे-धीरे मसूड़ों को मालिश करने से वे मजबूत होते हैं। हमें दांतों की सफाई व सुरक्षा का हर संभव प्रयास करना चाहिए। हमें ज्यादा मीठी व स्टार्च वाली चीजें नहीं खानी चाहिए। डेंटल कैम्प में लायन आदर्श अग्रवाल, सन्तोष अग्रवाल, श्यामकरन टेकडीवाल,कमल शेखर गुप्ता अजय अग्रवाल, सुनील टेकडीवाल, सुमित गोयल, हनुमान गोयल, राकेश मित्तल,अध्यक्ष नीलेश तायल, सचिव राजेश अग्रवाल कार्यक्रम को सफल बनाने में विद्यालय के पूरे स्टॉफ एवं कर्मचारियों का सराहनीय योगदान रहा।

सीएए के विरोध मे हिंसा में मारे गए मृतकों के परिवार से मिलने पहुँचे सपा प्रदेश अध्यक्ष व डेलिगेशन,,,,,,

एक टिप्पणी छोड़ दो